Yogi Adityanath Changed AllahaBad Name

No comments exist

बदलता भारत, बदलते नाम

Yogi Adityanath Changed AllahaBad Name

Yogi Adityanath Changed AllahaBad Name

समृद्धि, संस्कृति और गौरवशाली इतिहास होने के बावजूद भारत में शहरों के नामों का तेजी से परिवर्तन किया जा रहा है इसका कारण शायद यह है कि मौजूदा सरकार सोचती है नाम बदलने से देश में विकास के आने की संभावना बन जाए यही कारण है कि योगी सरकार ने बहुत सारे शहरों का नाम परिवर्तन करने की कोशिश की है इसी में सबसे सरल उदाहरण इलाहाबाद है जिसका स्वयं का का अपना इतिहास है इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखने के प्रस्ताव को केंद्र सरकार ने करीब 10 दिन पहले अपनी स्वीकृति की मुहर दे दी है प्रयागराज में कुंभ के मेले की शुरुआत 15 जनवरी को मकर संक्रांति से हो जाती है परंतु कुंभ के मेले के पहले ही इलाहाबाद को एक नया नाम प्रयागराज के रूप में पहचान मिली है 25 शहरों और गांवों के नाम बदलने पर केंद्र सरकार ने पिछले 1 साल में मंजूरी दे दी है यूं तो भारत में बहुत कुछ चीजें ऐसी हैं जो बदलने का इंतजार कर रही है लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार इलाकों के और शहरों के नाम बदलने में व्यस्त है इसी प्रकार फैजाबाद का नाम बदल कर अयोध्या नाम नई पहचान के रूप में मिलने को कुछ लोगों ने स्वीकार किया और कुछ लोगों को इस बात से दुख पहुंचा क्योंकि नाम के साथ एक इतिहास जुड़ा होता है और इतिहास से जुड़े हुए लोग किसी भी प्रकार के बदलाव को आसानी से मंजूर नहीं कर पाते इसी प्रकार भारत की एक ऐतिहासिक जगह मुगलसराय को पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर का नाम दिया गया भारत में और विशेषकर उत्तर प्रदेश में ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जो अपने बदलने का इंतजार कर रही है जैसे कि किसानों की वर्तमान स्थिति बहुत समय से किसी ऐसे मसीहा की तलाश में है जो उस में सकारात्मक परिवर्तन ला सके परंतु उत्तर प्रदेश सरकार का मानना है कि शहरों के पुराने नाम होने के कारण विकास शहर के अंदर नहीं आ पा रहा नाम बदलने की इस होड़ को देख कर इस प्रतीत होता है की ये स्वयं भारत का नाम बदलने की तैयारी है यद्यपि इस सरकार का देश में उत्थान होता रहा तो कोई आश्चर्य जनक बात नही है की भविष्य में भारत रामू की नगरी के नाम से जाना जाएगा

 

लेख : मिर्ज़ा मुदस्सिर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *