sansad bhawan

sansad bhawan

संसद भवन

sansad bhawan संसद भवन का शिलान्यास ड्यूक ऑफ़ कनॉट ने किया था I संसद भवन को बनाने का मुख्य कारण था 1935 में शुरू की गई द्विसदनीय व्यवस्थापिका, 1935 में भारतीय शासन अधिनियम 1935 स्थापना की गईI  संसद का कलात्मक नमूना बहुत ही खूबसूरत और मजबूत तरीके से बनाया गया जिसे बहुत ही बड़े वास्तु विद लुटियंस  नए डिजाइन का रूप देकर एक प्रभावी नमूना तैयार कियाI भारतीय संसद भवन का उद्घाटन उस समय के वायसराय लॉर्ड इरविन ने 18 जनवरी 1927 को क्या थाI

भारत की सभी संसदीय कार्यवाही या संसद भवन में ही की जाती हैI इसका सारा परिसर सजावटी लालटेन की दीवारों से घिरा हुआ है जिसमें लोहे के दरवाजे और जंगली भी शामिल हैI संसद में लंबे चौड़े जलाशय बने हुए हैं और इसी के साथ खूबसूरत फव्वारे इसकी सुंदरता को और बढ़ाते हैंI 

sansad bhawan

यह तो सभी जानते हैं कि संसद भवन सबसे शानदार भवनों में से एक हैI लेकिन, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसकी तुलना विश्व के बड़े विधान भवन से की जा सकती हैI संसद भवन में भारत के कानूनों का निर्माण होता है, और सभी मंत्री गण देश को विकास की ओर अग्रसर करने के लिए नीतियां तैयार करते हैंI  संसद भवन एक ऐसी इमारत है जो एक प्रकार से संपूर्ण भारत पर शासन करती हैI हम यह कह सकते हैं कि संसद भवन का नमूना विदेशी वास्तुविद ने तैयार किया परंतु संसद भवन का निर्माण भारतीय सामग्री से हुआ है और भारतीय मजदूरों ने संसद भवन का निर्माण किया हैI  इसीलिए, कहा जा सकता है कि यही कारण है संसद भवन पर भारतीय कला ने गहरे तौर पर अपनी छाप छोड़ी हैI

परंतु हमें यह समझना होगा कि संसद भवन मात्र एक इमारत भर नहीं हैI  बल्कि संसद भवन देश का मस्तिष्क है और यहीं से तय होता है कि हमारा देश कब किन नीतियों का अनुसरण करेगाI

 

वास्तविक तौर पर संसद भवन की रचना राष्ट्रपति, लोकसभा व राज्यसभा से मिलकर होती हैI  एक आधार पर संसद भवन सुचारू रूप से तभी काम कर पाएगा जब राष्ट्रपति. लोकसभा और राज्यसभा देश में तीनों अच्छी स्थिति में होंगेI  राष्ट्रपति, लोकसभा और राज्यसभा से मिलकर संसद भवन के बनने का उल्लेख संविधान के भाग 5 अध्याय 2 और 3 में उपस्थित हैI

 

यह भी अवश्य पढ़ें

  1. Fundamental duties in hindi
  2. ग्राम पंचायत
  3. मौलिक कार्तवीय
  4. राज्य के नीति निदेशक सिद्धांत
  5. हमें कौन कौन से मौलिक अधिकार प्राप्त हैं
  6. राज्य पुनर्गठन आयोग
  7. नागरिकता क्या है और नागरिकता ग्रहण करना क्यों अनिवार्य है
  8. नागरिकता कैसे ली जाती है
  9. नागरिकता कैसे समाप्त हो सकती है अथवा छीनी जा सकती है
  10. नागरिकता अधिनियम 1955 सिटीजनशिप एक्ट 1955
  11. भारतीय संविधान की प्रस्तावना
  12. संघ और परिसंघ के बीच क्या अंतर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *