nagrikta kese samapt hoti he

No comments exist

नागरिकता कैसे समाप्त हो सकती है अथवा छीनी जा सकती है

nagrikta kese samapt hoti he

जिस तरह से नागरिकता प्राप्त अथवा अर्जित की जाती है उसी प्रकार से नागरिकता का त्याग भी किया जा सकता है अन्यथा केंद्र सरकार के द्वारा या सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नागरिकता चीनी भी जा सकती है जिसके लिए कुछ नियम है जिन का विवरण नीचे उपलब्ध है

स्वैच्छिक त्याग द्वारा नागरिकता त्यागना
यदि कोई भारतीय नागरिक किसी दूसरे देश की नागरिकता ग्रहण करना चाहता है या किसी अन्य कारण से भारत की नागरिकता का परित्याग करना चाहता है तो वे भारत की नागरिकता त्याग सकता है परंतु वह पूरी तरह से निर्दोष होना चाहिए और किसी भी प्रकार के अपराध में उसका नाम शामिल नहीं होना चाहिए इस प्रकार से अधिकतर ऐसे लोग नागरिकता त्याग ते हैं जो अपने व्यवसाय या फिर आर्थिक विकास के कारण किसी दूसरे राष्ट्रीय राज्य में रहना चाहते हैं और वहां की नागरिकता ग्रहण करना चाहते हैं

विवाह के कारण नागरिकता का समाप्त होना
यदि कोई स्त्री या पुरुष किसी अन्य राष्ट्र के स्त्री या पुरुष से विवाहित होता है और उस राष्ट्र में रहता है परंतु भारत के है परंतु भारत के प्रति कोई जवाब नहीं देता अथवा अपनी स्थिति भारतीय नागरिकता के प्रति भारतीय नागरिकता के प्रति स्पष्ट नहीं करता है तो इस प्रकार उसकी भारतीय नागरिकता स्वयं ही समाप्त हो जाती है इस स्थिति में मैं भारत का नागरिक नहीं रहता और दूसरे देश की नागरिकता ग्रहण करनी पड़ती है अन्यथा विवाह उपरांत निश्चित समय सीमा में उसको अपनी स्थिति स्पष्ट करना आवश्यक है

प्रवसन द्वारा नागरिकता से वंचित होना
यदि कोई व्यक्ति किसी अन्य देश की नागरिकता प्राप्त करता है और भारत की नागरिकता का परित्याग करता है या फिर भारत की नागरिकता छोड़ता है उस स्थिति में भारतीय नागरिकता से वह व्यक्ति स्वयं ही वंचित हो जाएगा और दूसरे देश का नागरिक माना जाएगा

वंचित विधि द्वारा नागरिकता खो देना
यदि कोई व्यक्ति भारत की नागरिकता ग्रहण करना चाहता है और उस व्यक्ति ने कपट ता पूर्वक भारत की नागरिकता ग्रहण की है या फिर उस व्यक्ति ने धोखे से असंवैधानिक तरीके से भारत की नागरिकता ग्रहण की है उस स्थिति में व्यक्ति भारत की नागरिकता से वंचित कर दिया जाएगा भारतीय संविधान के प्रति अभद्र या बुरा व्यवहार करने वालों को नागरिकता से भारत सरकार स्वयं वंचित कर सकती है

विदेशों में नौकरी के कारण नागरिकता का खो जाना
यदि कोई व्यक्ति विदेश में किसी सरकारी पद पर कार्यरत है जो किसी अन्य देश की सरकार का पद है अथवा उस देश के लिए कोई ऐसा पद ग्रहण करता है जिस पद से उस देश का कोई गुप्त विभाग अथवा जासूसी संगठन जुड़ा है तो इस प्रकार की नौकरी से उस व्यक्ति की नागरिकता समाप्त हो जाएगी

राष्ट्र विरोधी कार्य करने से नागरिकता के समाप्त होने का खतरा है
यदि कोई व्यक्ति भारत के प्रति राष्ट्र विरोधी कार्य करता करता है या ऐसे किसी कार्य में पकड़ा जाता है जो राष्ट्र के विरुद्ध है अन्यथा देशद्रोह के किसी अपराध में सिद्ध हो जाता है इस स्थिति में व्यक्ति की नागरिकता छीन ली जाती है जैसे यदि कोई व्यक्ति फौजी से भाग जाता है भाग जाता है से भाग जाता है जाता है या भारत के विरुद्ध और भारतीय अखंडता के विरुद्ध किसी षड्यंत्र में शामिल होता है इस स्थिति में उस व्यक्ति को दंडित किया जाता है और उसकी नागरिकता को समाप्त कर दिया जाता है जिस कारण वे भारतीय नागरिकता खो देता है

अन्य कारण
भारतीय नागरिकता खोने के कुछ अन्य कारण भी है कोई ऐसा व्यक्ति है जिसको पागल सिद्ध किया गया हो अथवा सन्यास ग्रहण करने वाला ऐसा व्यक्ति होगा जब भारत का नागरिक नहीं होगा इसी के साथ फकीरी भी एक ऐसा कार्य कार्य ऐसा कार्य कार्य है जिसके कारण भारतीय नागरिकता समाप्त हो जाती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *